Tag Archives: Root

Untitled

मिर्च की फसल में नेचरडीप के फायदे और इस्तेमाल के बारे में विस्तृत जानकारी

नेचर डीप क्या है?

नेचर डीप एक जैविक उत्पाद है तथा इसमें मायकोरायझा नामक फफूंद है, यह फफूंद आपके मिर्च के पौधों की जड़ों पर पनपती है और जडों की कक्षा बढ़ जाती है. इससे मिर्च का पौधा अधिक से अधिक अन्न द्रव्य ले सकता है और मिर्च का उत्पादन बढ जाता है। नेचर डीप का उपयोग आप ड्रेचीग/ड्रीप/खाद के साथ छिट्टा लगाकर कैसे भी कर सकते है

Continue reading

Untitled

What is nature deep & benefits of nature deep in various crops

What is Nature Deep?

Sumitomo Chemical Naturedeep improves root growth in field crops and the development of white root in fruits and vegetable crops. This improves the nutrient and fertilizer uptake from soil and greatly enhances crop yield. Naturedeep is also used in the seed treatment of various crop seeds.

Continue reading

Untitled

केले की फसल में नेचरडीप के फायदे और इस्तेमाल के बारे में विस्तृत जानकारी

केले की फसल में नेचरडीप के फायदे और इस्तेमाल के बारे में विस्तृत जानकारी


नेचर डीप क्या है?

नेचर डीप एक जैविक उत्पाद है तथा इसमें मायकोरायझा नामक फफूंद है, यह फफूंद आपके मिर्च के पौधों की जड़ों पर पनपती है और जडों की कक्षा बढ़ जाती है. इससे मिर्च का पौधा अधिक से अधिक अन्न द्रव्य ले सकता है और मिर्च का उत्पादन बढ जाता है। नेचर डीप का उपयोग आप ड्रेचीग/ड्रीप/खाद के साथ छिट्टा लगाकर कैसे भी कर सकते है

Continue reading

Untitled

नेचरदीप क्या है? एवं विभिन्न फसलों में नेचरदीप के लाभ

नेचरदीप क्या है? एवं विभिन्न फसलों में नेचरदीप के लाभ


नेचर डीप क्या है?

नेचर डीप एक जैविक उत्पाद है तथा इसमें मायकोरायझा नामक फफूंद है.

Continue reading

naturedeep treated

Mycorrhizae refers to the symbiotic relationship between fungi and plants

Mycorrhizae refers to the symbiotic relationship between fungi and plants. In this symbiotic relationship, the fungus colonizes the host plant’s root tissues and improves the water and nutrient absorption capabilities of the host plant.

Continue reading

x banana field

केले की खेती कैसे करें | केले की फसल में नेचरडीप के लाभ

केले की खेती (Banana Cultivation) किसानों के लिए अच्छी आमदानी का जरिया हो सकता है. ऐसा कहा जाता है कि केले की खेती करीब 4 हजार साल पहले मलेशिया में शुरू हुई थी. भारत के कई प्रांतों में केले की खेती की जाती है. महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, बिहार और असम में खेले की खेती बड़े पैमाने पर की जाती है. वहीं उत्तर प्रदेश के कई क्षेत्र में केले की खेती जा रही है. तो आइये जानते हैं केले की खेती कैसे की जाए.

Continue reading

RDESController

नेचरडीप के साथ केले की खेती से मिलेगी ज्यादा उपज, जानिए कैसे ?

केला भारत वर्ष का प्राचीनतम स्वादिष्ट पौष्टिक पाचक एवं लोकप्रीय फल है अपने देश में प्राय:हर गाँव में केले के पेड़ पाए जाते है इसमे शर्करा एवं खनिज लवण जैसे कैल्सियम तथा फास्फोरस प्रचुर मात्रा में पाए जाता है। फलों का उपयोग पकने पर खाने हेतु कच्चा सब्जी बनाने के आलावा आटा बनाने तथा चिप्स बनाने के कम आते है। इसकी खेती लगभग पूरे भारत वर्ष में की जाती है।

जलवायु एवं भूमि
केला की खेती के लिए किस प्रकार की जलवायु एवं भूमि की आवश्यकता होती है? : गर्मतर एवं सम जलवायु केला की खेती के लिए उत्तम होती है अधिक वर्षा वाले क्षेत्रो में केला की खेती सफल रहती है जीवांश युक्त दोमट एवम मटियार दोमट भूमि ,जिससे जल निकास उत्तम हो उपयुक्त मानी जाती है भूमि का पी एच मान 6-7.5 तक इसकी खेती के लिए उपयुक्त होता है।

Continue reading

aa Cover m7uhuah2mdjhdqol1v91hlajq7 20171104023928.Medi  624x349

महाराष्ट्र में अंगूर की खेती

हमारे देश में व्यावसायिक रूप से अंगूर की खेती पिछले लगभग छः दशकों से की जा रही है और अब आर्थिक दृष्टि से सर्वाधिक महत्वपूर्ण बागवानी उद्यम के रूप से अंगूर की खेती काफी उन्नति पर है। आज महाराष्ट्र में सबसे अधिक क्षेत्र में अंगूर की खेती की जाती है तथा उत्पादन की दृष्टि से यह देश में अग्रणी है।

Continue reading

4 624x402

Grapes Farming: इस फल की मिठास करवाएगी दोगुनी कमाई

किसान अपने खेत में बोई फसलों की अच्छी पैदावार के लिए कई प्रयास करता है, ताकि वह फसल की उपज से बेहतर मुनाफ़ा कमा सके. इसी कड़ी में किसान सब्जी और फूल की खेती के साथ अंगूर की खेती भी कर सकते हैं. अंगूर की मिठास किसानों को अच्छा मुनाफ़ा देकर उनकी आमदनी को दोगुना कर सकती है. अगर इसकी खेती 1 एकड़ में की जाए, तो साल में इसकी पैदावार से लाखों रुपये कमाए जा सकते हैं. जानकारों का भी मानना है कि एक एकड़ में अंगूर की खेती से हर साल लगभग 6 से 7 लाख रुपये का मुनाफ़ा हो सकता है. अगर इस मुनाफ़े से खेती पर होने वाले खर्च को भी निकाल दें, तब भी किसानों को काफी बेहतर मुनाफ़ा मिलेगा.

Continue reading

4 624x402

Grapes Farming in India

India is among the leading 10 countries in the world in the production of grapes. Mostly used in India as a table fresh fruit, grapes are also used for making wines and raisins. Did you know? There are more than 25 varieties of grapes!

Continue reading