Untitled

मिर्च की फसल में नेचरडीप के फायदे और इस्तेमाल के बारे में विस्तृत जानकारी

नेचर डीप क्या है?

नेचर डीप एक जैविक उत्पाद है तथा इसमें मायकोरायझा नामक फफूंद है, यह फफूंद आपके मिर्च के पौधों की जड़ों पर पनपती है और जडों की कक्षा बढ़ जाती है. इससे मिर्च का पौधा अधिक से अधिक अन्न द्रव्य ले सकता है और मिर्च का उत्पादन बढ जाता है। नेचर डीप का उपयोग आप ड्रेचीग/ड्रीप/खाद के साथ छिट्टा लगाकर कैसे भी कर सकते है

नेचर डीप उपचारित/अनुपचारित

मिर्च की फसल में नेचर डीप की मात्रा

  • मात्राः 200 ग्राम/एकड़
  • लगाने का समय: रोपाई के 10 से 50 दिनों के अंदर

मिर्च की फसल में नेचरडीप के लाभ

जड़ो की जड़े बढ़ाएं: नेचर डीप के इस्तेमाल से जड़ो का व्यापक विकास होता है। यह जड़ो की जड़े जिसे हम सफेद जड़ कहते है उसका निर्माण करता है और यही जड़े पौधे की ऊर्जा स्रोत का होती है। नेचर डीप से जड़े अपना दायरा बढ़ा लेती है और जमीन में चारों दिशाओं में गहरी फैल जाती है।

पौधे को न्यूट्रिएंट (पोषक तत्व) का अपटेक करने में सहायता करता है: नेचर डीप से सफेद जड़ का भरपूर निर्माण होता है, यही सफेद जड़ पौधे को आवश्यक न्यूट्रिएंट जैसे- नाइट्रोजन, पोटाश, जिंक, मैग्नीशियम, कैल्शियम इत्यादि तत्व तथा पानी को पौधे तक उपलब्ध कराता है

तंदरुस्त पौधा मतलब ज़्यादा पैदावार: नेचर डीप एक जैविक फफूंद है जो जड़ो में हानिकारक बैकटिरीया से पौधे को बचाता है। नेचर डीप से पौधे का जड़ विकास होता है और जैसे की आप जानते है ज्यादा जड़ मतलब तंदुरुस्त पौधा और तंदुरुस्त पौधा ज्यादा उत्पादन देता है।

मिट्टी को उपजाऊ बनाता है: नेचर डीप के इस्तेमाल से मिट्टी की उपजाऊ क्षमता बढ़ती है। इसका मतलब है नेचर डीप मिट्टी में ह्यूमस बढ़ाता है और मिट्टी के सूक्ष्म जीवों की मात्रा बढ़ाकर मिट्टी में आर्गेनिक कार्बन की मात्रा बढ़ाता है

क्या आप जानते है? आप अपने खेत में डीएपी एवम् फासफोरस युक्त खाद का भारी मात्रा में उपयोग करते हो। इस खाद में से 30% से 40% खाद जमीन में ही रह जाती है। नेचर डीप के प्रयोग से यह बची हुई खाद पौधे को उपलब्ध होती है। और खेत भी उपजाऊ रहता है

हमारे एक्सपर्ट्स से पाइये नेचरडीप के बारे में अपने सभी सवालों के जवाबClick Here

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *